Anti Bullying: Notice These 6 Warning Signs And Offer The Support Kids Deal With Bullies – Anti Bullying: आपके बच्चे को कोई कर रहा बुली, इन संकेतों से जानें

स्कूल जाने वाले बच्चे के सामने होमवर्क, अच्छे मार्क्स लाने और परीक्षा देने जैसी चुनौतियाँ ही नहीं होतीं। इनके अलावा और भी कई चीजें हैं जो बच्चे को परेशान कर सकती हैं और किसी बुली का उसकी जिंदगी में होना भी ऐसी ही एक बड़ी चुनौती है। होमवर्क, परीक्षा आदि तो सकारात्मक चुनौतियाँ हैं जो बच्चे के भविष्य को संवारने में मदद करती हैं लेकिन बुली से पीड़ित होने की स्थिति इसके उलट उसका वर्तमान और भविष्य दोनों बिगाड़ सकती है। रफ्तार से भरे दौर में जिस तेजी से संवेदनाएं खत्म हो रही हैं वहां बुली करने वाले लोग और ऐसी स्थितियां अब पहले से और अधिक बिगड़े स्वरूप में सामने आ रही हैं। 

शरीर के आकार, रंग-रूप, आर्थिक या पारिवारिक स्थिति, आदि जैसे कई पहलू हैं जिनको लेकर बच्चे को बुली किया जा सकता है। बुली करना यानी सामान्य भाषा में समझें तो किसी को परेशान करना, सताना, प्रताड़ना देना या दुर्व्यवहार करना। स्कूलों में आजकल इसकी घटनाएं बढ़ रही हैं और परेशान करने के तरीके पहले की तुलना में अधिक हिंसक होते जा रहे हैं। इसलिए जरूरी है कि अगर बच्चा इसका शिकार हो रहा है तो उसको समय पर मदद मिले। 

मजाक उड़ाने से लेकर शारीरिक हिंसा तक 

जिस तेजी से हमारी जिंदगियों में मशीनीकरण और वर्चुअल दुनिया की घुसपैठ हुई है, उसी तेजी से लोगों में भावनाओं और संवेदनाओं के स्तर में भी कमी आई है। इसका सबसे बुरा पहलू छोटे बच्चों में बढ़ती हिंसक घटनाओं और उनके व्यवहार में आये नकारात्मक परिवर्तन के रूप में सामने आ रहा है। स्कूलों में छोटी सी किसी बात को लेकर बच्चों में मार-पीट और दुर्व्यवहार आम होते जा रहे हैं। इसके लिए कई चीजें दोषी हैं और इन पर विचार करने और ठोस कदम उठाने की जरूरत है। इसके साथ ही एक और जरूरत है अपने बच्चे को लेकर सजग रहने की। अगर आपका बच्चा ऐसी किसी घटना का शिकार हो रहा है तो उसे तुरंत सहायता दें। मनोवैज्ञानिक स्तर पर इस तरह की घटनाएं बच्चे के पूरे व्यक्तित्व और जीवन पर बहुत  बुरा असर डाल सकती हैं। इसलिए ध्यान रखें अगर आपके बच्चे में ये 6 परिवर्तन दिखाई दें तो। 

1. गुमसुम रहने लगे 

पूरे घर में चहकता, उछलता और मस्ती करता बच्चा यदि अचानक चुप रहना पसंद करने लगे, आपके सवालों के जवाब टालने लगे या बात करते करते कहीं खो जाये तो तुरंत उसपर ध्यान दें। शुरुआत में अक्सर बच्चे स्थिति को समझ नहीं पाते, वे यह नहीं जानते कि इसको लेकर क्या किया जाए। साथ ही वे डर, घबराहट, दबाव आदि से भी जूझ रहे होते हैं, लिहाजा वे चुप से रहने लगते हैं। टीन एज की ओर कदम बढ़ा रहे बच्चों में भी सामान्यतः ऐसे परिवर्तन देखे जाते हैं जो कि समय के साथ ठीक हो सकते हैं लेकिन ये परिवर्तन बुली होने की वजह से भी हो सकते हैं और दोनों ही स्थितियों में बच्चे को सहायता और संबल की जरूरत होती है। इसलिए बच्चे से धैर्य के साथ पूछें और जब तक उसकी उदासी का कारण न मिल जाए, आप उसका समाधान न ढूंढ लें, तब तक रुकें नहीं। 

 

2. खाने और सोने में परेशानी 

मसालेदार कोई सब्जी या मनपसंद मिठाई को देखकर भी बच्चा अब उत्साहित नहीं होता, वह खाने को लेकर असमंजस में पड़ा रहता है, हर चीज खाने से पहले देर तक सोचता है, कई बार खाने को देखकर डरने भी लगता है, कहीं बाहर खाने जाने की बात से ही बिदक उठता है, तो इसे हल्के में न लें। हो सकता है कि कोई उसे बढ़ते वजन या अन्य शारीरिक स्थिति के लिए चिढ़ाता हो या परेशान करता हो या फिर बच्चे पर किसी का दबाव हो। इसी तरह बच्चे की नींद में रुकावट आ रही हो, वह नींद से चौंककर, डरकर उठ जाता हो, नींद आने के बावजूद सोने से डर रहा हो, आदि। ऐसी स्थिति में भी उसकी उलझन और समस्या पर तुरंत ध्यान दें। हो सकता है बच्चे के दिमाग में किसी चीज का डर बैठाया गया हो जिसको लेकर उसके मन में असुरक्षा का भाव आ गया हो। उसके मन से यह डर निकालना बहुत जरूरी है। 

3. पहनावे को लेकर असमंजस 

बच्चा नए कपड़ों को लेकर उत्साहित न हो। खासकर लड़कियों के मामले में बुलीइंग की यह स्थिति आम है। शारीरिक संरचना को लेकर किये जाने वाले कमेंट्स अक्सर बच्चे में हीनभावना लाने लगते हैं। इस वजह से वह अपने आपको लेकर निरुत्साहित रहने लगते हैं। अच्छे कपड़े पहनने में भी उन्हें हिचक और असमंजस होने लगता है। उन्हें लगता है उनके ऊपर कुछ भी अच्छा नहीं लगेगा। कुछ बच्चे इस स्थिति में बहुत ढीले या बहुत टाइट कपड़े भी पहनने लगते हैं जिसका असर उनकी सेहत पर भी पड़ सकता है। यहाँ बहुत जरूरी है बच्चे को सम्पूर्ण व्यक्तित्व यानी उसके गुणों और कौशल से भरपूर व्यक्तित्व के बारे में बताया जाए और उसके विकास पर ध्यान दिया जाए। इससे बच्चे का आत्मविश्वास बना रहेगा और वह खुद को लेकर बन रही नकारात्मक सोच से बाहर आएगा। 

Leave a Comment