Credit System Started In Himachal’s Polytechnic Institutes – Credit System: हिमाचल के बहु तकनीकी संस्थानों में क्रेडिट सिस्टम शुरू, विद्यार्थियों को नए सत्र से मिलेगा लाभ

ख़बर सुनें

अक्तूबर में शुरू हो रहे नए शैक्षणिक सत्र 2022-23 से बहु तकनीकी संस्थानों में क्रेडिट सिस्टम के तहत पढ़ाई होगी। इस सिस्टम को नई शिक्षा नीति के तहत तकनीकी शिक्षा बोर्ड ने लागू कर दिया है। शैक्षणिक सत्र 2022-23 के दौरान प्रथम वर्ष के छात्रों की पढ़ाई क्रेडिट सिस्टम के तहत होगी। जानकारी के अनुसार बहु तकनीकी संस्थानों में क्रेडिट सिस्टम शुरू करने के लिए अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) सेमीनार लगा चुकी है। एआईसीटीई के पूरे अध्ययन के बाद ही बहु तकनीकी संस्थानों में इस क्रेडिट सिस्टम प्रणाली को लागू किया गया है। नई शिक्षा नीति के तहत शुरू हुई प्रणाली के तहत अब तकनीकी शिक्षा में भी कई बदलाव हुए हैं। बहु तकनीकी शिक्षण संस्थानों में नया सिलेबस एन-22 भी शुरू किया गया है। इस दौरान नए सिलेबस में जहां मौजूदा समय में जरूरत के हिसाब नए कोर्सों को शुरू किया गया है, वहीं जरूरत के नहीं रहे पुराने कोर्सों को भी हटाया गया है। 

अधूरी पढ़ाई छोड़ने वालों को मिलेगा फायदा
बहु तकनीकी संस्थानों में क्रेडिट सिस्टम शुरू होने से छात्रों को काफी फायदा होगा। पढ़ाई करने वाले छात्र क्रेडिट के हिसाब से अपना-अपना कोर्स पूरा कर सकेंगे। एक वर्ष की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्हें सर्टिफिकेट, दो वर्ष तक पढ़ाई करने पर डिप्लोमा और तीन वर्ष तक पढ़ाई पूरी करने पर उन्हें डिग्री मिल सकेगी। इससे पहले बीच में पढ़ाई छोड़ने वाले छात्रों को कुछ भी नहीं दिया जाता था। इसके अलावा बाद में पढ़ाई शुरू करने पर उन्हें उन्हीं क्रेडिट से आगे की पढ़ाई शुरू करने का अवसर मिल सकेगा, जहां से उन्होंने पढ़ाई छोड़ी थी। 

अगले माह शुरू हो रहे शैक्षणिक सत्र 2022-23 में बहु तकनीकी संस्थानों में क्रेडिट सिस्टम के तहत पढ़ाई होगी। यह सिस्टम शुरू होने से सूबे के उन छात्रों को फायदा होगा, जिन्हें अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़नी पड़ती है। ऐसे छात्रों को अब क्रेडिट के हिसाब से सर्टिफिकेट, डिप्लोमा और डिग्री ले सकेंगे। 
– आरके शर्मा, सचिव, तकनीकी शिक्षा बोर्ड धर्मशाला

विश्वकर्मा दिवस पर नई दिल्ली में हिमाचल प्रदेश तकनीकी शिक्षा बोर्ड को शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सम्मानित किया। यह सम्मान हिमाचल प्रदेश में उत्कृष्ट परीक्षा परिणाम और सुचारु परीक्षा प्रबंधन के लिए दिया गया। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल माध्यम से उपस्थिति दर्ज करवाई। तकनीकी शिक्षा बोर्ड के सचिव आरके शर्मा ने बताया कि बोर्ड की ओर से यह सम्मान उप सचिव अभिनंदन कालिया ने हासिल की।

उन्होंने बताया कि कार्यक्रम का आयोजन एनसीवीईटी के चेयरमैन डॉ. निर्मलजीत सिंह और सचिव एमएसडीई अतुल तिवारी की ओर से किया गया था। कार्यक्रम के दौरान आईटीआई संस्थानों की वार्षिक परीक्षा एआईटीटी-2022 में अव्वल रहे प्रशिक्षणार्थियों को भी सम्मानित किया गया। हिमाचल प्रदेश की ओर से भाग लेने दिल्ली गए तकनीकी शिक्षा बोर्ड के उप सचिव अभिनंदन कालिया ने बताया कि कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल माध्यम से भाग लिया और उत्कृष्ट कार्य करने वालों को बधाई दी।

विस्तार

अक्तूबर में शुरू हो रहे नए शैक्षणिक सत्र 2022-23 से बहु तकनीकी संस्थानों में क्रेडिट सिस्टम के तहत पढ़ाई होगी। इस सिस्टम को नई शिक्षा नीति के तहत तकनीकी शिक्षा बोर्ड ने लागू कर दिया है। शैक्षणिक सत्र 2022-23 के दौरान प्रथम वर्ष के छात्रों की पढ़ाई क्रेडिट सिस्टम के तहत होगी। जानकारी के अनुसार बहु तकनीकी संस्थानों में क्रेडिट सिस्टम शुरू करने के लिए अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) सेमीनार लगा चुकी है। एआईसीटीई के पूरे अध्ययन के बाद ही बहु तकनीकी संस्थानों में इस क्रेडिट सिस्टम प्रणाली को लागू किया गया है। नई शिक्षा नीति के तहत शुरू हुई प्रणाली के तहत अब तकनीकी शिक्षा में भी कई बदलाव हुए हैं। बहु तकनीकी शिक्षण संस्थानों में नया सिलेबस एन-22 भी शुरू किया गया है। इस दौरान नए सिलेबस में जहां मौजूदा समय में जरूरत के हिसाब नए कोर्सों को शुरू किया गया है, वहीं जरूरत के नहीं रहे पुराने कोर्सों को भी हटाया गया है। 

अधूरी पढ़ाई छोड़ने वालों को मिलेगा फायदा

बहु तकनीकी संस्थानों में क्रेडिट सिस्टम शुरू होने से छात्रों को काफी फायदा होगा। पढ़ाई करने वाले छात्र क्रेडिट के हिसाब से अपना-अपना कोर्स पूरा कर सकेंगे। एक वर्ष की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्हें सर्टिफिकेट, दो वर्ष तक पढ़ाई करने पर डिप्लोमा और तीन वर्ष तक पढ़ाई पूरी करने पर उन्हें डिग्री मिल सकेगी। इससे पहले बीच में पढ़ाई छोड़ने वाले छात्रों को कुछ भी नहीं दिया जाता था। इसके अलावा बाद में पढ़ाई शुरू करने पर उन्हें उन्हीं क्रेडिट से आगे की पढ़ाई शुरू करने का अवसर मिल सकेगा, जहां से उन्होंने पढ़ाई छोड़ी थी। 

अगले माह शुरू हो रहे शैक्षणिक सत्र 2022-23 में बहु तकनीकी संस्थानों में क्रेडिट सिस्टम के तहत पढ़ाई होगी। यह सिस्टम शुरू होने से सूबे के उन छात्रों को फायदा होगा, जिन्हें अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़नी पड़ती है। ऐसे छात्रों को अब क्रेडिट के हिसाब से सर्टिफिकेट, डिप्लोमा और डिग्री ले सकेंगे। 

– आरके शर्मा, सचिव, तकनीकी शिक्षा बोर्ड धर्मशाला

Leave a Comment