Leopard Took Away Two And A Half Year Old Child From Mother’s Back – मां की पीठ से ढाई साल की बच्चे का उठा ले गया तेंदुआ

ख़बर सुनें

बेड़ीनाग (पिथौरागढ़)। बेड़ीनाग तहसील के चचड़ेत गांव में तेंदुआ मां की पीठ से ढाई साल की मासूम बच्ची को उठा ले गया। परिवार के लोगों ने शोर मचाकर तेंदुआ के पीछा किया। घर से करीब डेढ़ सौ मीटर दूर बच्ची का शव बरामद हुआ।
तहसील से 11 किमी दूर चचड़ेत गांव में लोग शनिवार रात गो-त्यार मना रहे थे। गांव में दादा बहादुर सिंह, दादी कौशल्या देवी चाचा विजय सिंह और पान सिंह की पत्नी कविता आंगन में खड़े थे। कविता की पीठ पर उनकी ढाई साल की बेटी भारती महरा थी। इसी दौरान पास में ही घात लगाकर बैठा तेंदुआ मां की पीठ से बच्ची को झपटकर ले गया। इसके बाद परिवार ने हल्ला कर ग्रामीणों को एकत्र किया। सभी बच्ची को खोजने निकले। घर से करीब डेढ़ सौ मीटर दूर बच्ची का शव मिला।
इस घटना की जानकारी वन विभाग को दे दी गई है। इस इलाके में बहादुर सिंह का परिवार अकेला रहता है। बिटिया की मौत की खबर फोन पर मिलते ही दूसरे शहर में नौकरी के लिए गए पान सिंह गांव के लिए चल दिए हैं। तेंदुए के हमले की सूचना मिलते ही वन क्षेत्राधिकारी चंद्रा मेहरा के नेतृत्व में टीम मौके पर पहुंची। ग्रामीणों ने क्षेत्र में पिंजरा लगाने की मांग की है।
क्षेत्रीय विधायक फकीर राम टम्टा, एसडीएम अनिल कुमार शुक्ला, थानाध्यक्ष मनोज पांडेय, भाजपा मंडल अध्यक्ष धीरज बिष्ट सहित बड़ी संख्या में लोग गांव पहुंचे। विधायक ने बच्ची के माता-पिता को सांत्वना देने के साथ वन विभाग से पीड़ित परिवार को मुआवजा देने और पिंजरा लगाने के लिए कहा है। बेटी की मौत से मां कविता और दादा-दादी बेसुध हो गए हैं।

बेड़ीनाग (पिथौरागढ़)। बेड़ीनाग तहसील के चचड़ेत गांव में तेंदुआ मां की पीठ से ढाई साल की मासूम बच्ची को उठा ले गया। परिवार के लोगों ने शोर मचाकर तेंदुआ के पीछा किया। घर से करीब डेढ़ सौ मीटर दूर बच्ची का शव बरामद हुआ।

तहसील से 11 किमी दूर चचड़ेत गांव में लोग शनिवार रात गो-त्यार मना रहे थे। गांव में दादा बहादुर सिंह, दादी कौशल्या देवी चाचा विजय सिंह और पान सिंह की पत्नी कविता आंगन में खड़े थे। कविता की पीठ पर उनकी ढाई साल की बेटी भारती महरा थी। इसी दौरान पास में ही घात लगाकर बैठा तेंदुआ मां की पीठ से बच्ची को झपटकर ले गया। इसके बाद परिवार ने हल्ला कर ग्रामीणों को एकत्र किया। सभी बच्ची को खोजने निकले। घर से करीब डेढ़ सौ मीटर दूर बच्ची का शव मिला।

इस घटना की जानकारी वन विभाग को दे दी गई है। इस इलाके में बहादुर सिंह का परिवार अकेला रहता है। बिटिया की मौत की खबर फोन पर मिलते ही दूसरे शहर में नौकरी के लिए गए पान सिंह गांव के लिए चल दिए हैं। तेंदुए के हमले की सूचना मिलते ही वन क्षेत्राधिकारी चंद्रा मेहरा के नेतृत्व में टीम मौके पर पहुंची। ग्रामीणों ने क्षेत्र में पिंजरा लगाने की मांग की है।

क्षेत्रीय विधायक फकीर राम टम्टा, एसडीएम अनिल कुमार शुक्ला, थानाध्यक्ष मनोज पांडेय, भाजपा मंडल अध्यक्ष धीरज बिष्ट सहित बड़ी संख्या में लोग गांव पहुंचे। विधायक ने बच्ची के माता-पिता को सांत्वना देने के साथ वन विभाग से पीड़ित परिवार को मुआवजा देने और पिंजरा लगाने के लिए कहा है। बेटी की मौत से मां कविता और दादा-दादी बेसुध हो गए हैं।

Leave a Comment