School To Class Viii Closed For Two Days – भारी बरसात से एक से आठवीं तक के विद्यालय दो दिन बंद

ख़बर सुनें

मौसम विभाग से अगले कुछ दिनों तक भारी बारिश होने की चेतावनी जारी होने पर डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने जिले में एक से आठवीं कक्षा तक के सभी सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालयों को बुधवार एवं बृहस्पतिवार को बंद रखने के आदेश जारी किए हैं।
डीएम ने जिला विद्यालय निरीक्षक सुभाष गौतम एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सतेंद्र कुमार को निर्देशित किया है कि निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन कराते हुए 21 व 22 सितंबर को सभी सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालयों को बंद कराना सुनिश्चित करें। डीएम ने बताया कि दो दिनों से लगातार हो भारी बरसात के दृष्टिगत जगह-जगह निचले स्थानों पर जलभराव की स्थिति बन गयी है। मौसम विभाग द्वारा आगामी दो दिन और भारी बरसात होने के संकेत दिए गए हैं। जिससे बच्चों को स्कूल पहुंचने में कठिनाईयों का सामना करना पड़ सकता है। बच्चों को सुरक्षित रखने के लिए स्कूलों को तत्काल प्रभाव से बंद कराया गया है।
डीएम की अपील, बरसात के दौरान बरतें सावधानी :
डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने लोगों से सतर्क रहने की अपील की है। कहा है कि ऐसे स्थानों पर न जाएं जहां जलभराव की स्थिति बनती है। गहरे स्थानों, नदी, नालों, नहरों, तालाब, डैम, कुए आदि स्थानों पर जाने से बचें। प्रशासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए प्रशासन का सहयोग करें। पुराने, जर्जर भवन के नीचे निवास न करें। कहा है कि बारिश और खराब मौसम के दौरान बेहद जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें। बिजली के खंभों पर्याप्त दूरी बनाकर रखें। बच्चों पर विशेष निगरानी रखें कि वह जलभराव वाले स्थान पर न जाने पाएं।
जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने जारी की एडवाइजरी
जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने भी भारी बारिश के दृष्टिगत एडवाइजरी जारी कर बचाव एवं सुरक्षा के उपाय बताए हैं। जिला आपदा विशेषज्ञ के अनुसार छोटी नदियों और नालों से दूर रहें। नदियों के किनारे या धान के खेतों के नजदीक वाहन चलाने से बचना चाहिए। धान के खेतों में पानी भर जाने पर यह तय करना मुश्किल हो जाता है कि सड़क और पानी के बीच की सीमा कहां है। बिजली गिरने पर बचाव के लिये ‘दामिनी एप’ का उपयोग करने की सलाह दी है।

विस्तार

मौसम विभाग से अगले कुछ दिनों तक भारी बारिश होने की चेतावनी जारी होने पर डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने जिले में एक से आठवीं कक्षा तक के सभी सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालयों को बुधवार एवं बृहस्पतिवार को बंद रखने के आदेश जारी किए हैं।

डीएम ने जिला विद्यालय निरीक्षक सुभाष गौतम एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सतेंद्र कुमार को निर्देशित किया है कि निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन कराते हुए 21 व 22 सितंबर को सभी सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालयों को बंद कराना सुनिश्चित करें। डीएम ने बताया कि दो दिनों से लगातार हो भारी बरसात के दृष्टिगत जगह-जगह निचले स्थानों पर जलभराव की स्थिति बन गयी है। मौसम विभाग द्वारा आगामी दो दिन और भारी बरसात होने के संकेत दिए गए हैं। जिससे बच्चों को स्कूल पहुंचने में कठिनाईयों का सामना करना पड़ सकता है। बच्चों को सुरक्षित रखने के लिए स्कूलों को तत्काल प्रभाव से बंद कराया गया है।

डीएम की अपील, बरसात के दौरान बरतें सावधानी :

डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने लोगों से सतर्क रहने की अपील की है। कहा है कि ऐसे स्थानों पर न जाएं जहां जलभराव की स्थिति बनती है। गहरे स्थानों, नदी, नालों, नहरों, तालाब, डैम, कुए आदि स्थानों पर जाने से बचें। प्रशासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए प्रशासन का सहयोग करें। पुराने, जर्जर भवन के नीचे निवास न करें। कहा है कि बारिश और खराब मौसम के दौरान बेहद जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें। बिजली के खंभों पर्याप्त दूरी बनाकर रखें। बच्चों पर विशेष निगरानी रखें कि वह जलभराव वाले स्थान पर न जाने पाएं।

जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने जारी की एडवाइजरी

जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने भी भारी बारिश के दृष्टिगत एडवाइजरी जारी कर बचाव एवं सुरक्षा के उपाय बताए हैं। जिला आपदा विशेषज्ञ के अनुसार छोटी नदियों और नालों से दूर रहें। नदियों के किनारे या धान के खेतों के नजदीक वाहन चलाने से बचना चाहिए। धान के खेतों में पानी भर जाने पर यह तय करना मुश्किल हो जाता है कि सड़क और पानी के बीच की सीमा कहां है। बिजली गिरने पर बचाव के लिये ‘दामिनी एप’ का उपयोग करने की सलाह दी है।

Leave a Comment