Small Towns Of Up Are Pleasing To Investors, Investment Of Four Thousand Crores In Six Months – Up Investment: निवेशकों को भा रहे हैं कन्नौज, चित्रकूट जैसे छोटे शहर, छह माह में चार हजार करोड़ का निवेश

ख़बर सुनें

उत्तर प्रदेश के दूसरी और तीसरी श्रेणी के शहर निवेशकों को खासा आकर्षित कर रहे हैं। एनसीआर, कानपुर और लखनऊ जैसे बड़े शहरों से इतर पिछले दो साल में करीब 11 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का औद्योगिक निवेश ऐसे ही छोटे शहरों में हुआ है। इसमें भी पिछले छह महीने में ही चार हजार करोड़ से ज्यादा निवेश हुआ है।
उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) के अधिकारियों का मानना है कि बड़े शहरों से इतर फर्रुखाबाद, औरैया, कन्नौज, चित्रकूट, संडीला, पीलीभीत और रायबरेली जैसे छोटे शहरों में सस्ती जमीन की उपलब्धता के साथ ही सरकार और प्राधिकरण के स्तर पर निवेश के लिए बेहतर माहौल और विभिन्न तरह की निवेश संबंधी रियायतें निवेश के लिए बेहतर विकल्प दे रही है।

यही वजह है कि कई बड़ी औद्योगिक इकाइयां भी निवेश के लिए ऐसी ही दूसरी व तीसरी श्रेणी के शहरों का रुख कर रही है। यूपीसीडा के सीईओ मयूर महेश्वरी कहते हैं कि प्राधिकरण ने छोटे शहरों में निवेश के बेहतर अवसर प्रदान करने के लिए 12 हजार एकड़ जमीन का पूल तैयार कर लिया है।

इस पूल को बेहतर सुविधाओं के साथ निवेशकों को निवेश के समय विकल्प के तौर पर पेश किया जाएगा ताकि वह इन छोटे शहरों को भी अपने निवेश के लिए बेहतर स्थान के तौर पर आंक सके। इससे न सिर्फ इन शहरों का विकास होगा बल्कि इन शहरों के स्थानीय लोगों को भी रोजगार के नए अवसर पर मिलेंगे।

वेंबले एंड स्कॉट शुरू कर चुका है उत्पादन
कई बड़ी व नामी कंपनियों ने निवेश के लिए छोटे शहरों को चुना है। द वेंबले एंड स्कॉट ने हरदोई जिले के संडीला में हैंडगन की निर्माण इकाई लगाई और अब उत्पादन भी शुरू हो चुका है।

हाल ही में वरुण बीवरेजेस ने भी हाल ही में चित्रकूट, अमेठी और प्रयागराज जैसे गैर परंपरागत जिले में औद्योगिक निवेश किया है। इसी तरह एसएलएमजी बीवरेजेस ने अमेठी, जेके पेंट्स ने मथुरा जबकि बेस्ट ब्रूू एल्कोबेव लिमिटेड कंपनी ने संभल जैसे जिले में निवेश किया है।

विस्तार

उत्तर प्रदेश के दूसरी और तीसरी श्रेणी के शहर निवेशकों को खासा आकर्षित कर रहे हैं। एनसीआर, कानपुर और लखनऊ जैसे बड़े शहरों से इतर पिछले दो साल में करीब 11 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का औद्योगिक निवेश ऐसे ही छोटे शहरों में हुआ है। इसमें भी पिछले छह महीने में ही चार हजार करोड़ से ज्यादा निवेश हुआ है।

उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) के अधिकारियों का मानना है कि बड़े शहरों से इतर फर्रुखाबाद, औरैया, कन्नौज, चित्रकूट, संडीला, पीलीभीत और रायबरेली जैसे छोटे शहरों में सस्ती जमीन की उपलब्धता के साथ ही सरकार और प्राधिकरण के स्तर पर निवेश के लिए बेहतर माहौल और विभिन्न तरह की निवेश संबंधी रियायतें निवेश के लिए बेहतर विकल्प दे रही है।

Leave a Comment