Students Protest Continues Even After 24 Hours In Mohali University – मोहाली Mms कांड: यूनिवर्सिटी में 24 घंटे बाद भी छात्रों का संघर्ष जारी, प्रशासन के सामने रखीं ये मांगें

ख़बर सुनें

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में अश्लील वीडियो बनाकर वायरल करने के मामले में 24 घंटे भी विद्याथी संघर्ष कर रहे हैं। दोनों आरोपियों के गिरफ्तार किए जाने के बाद भी उन्होंने प्रदर्शन बंद नहीं किया है। वहीं प्रबंधन ने कहा कि दो दिन कॉलेज में पढ़ाई नहीं होगी। मामले को लेकर छात्र कल्याण निदेशक ्रविंदर कंग ने कहा कि पुलिस ने आज छात्रों से बातचीत की थी। वे अब संतुष्ट हैं। प्रथम वर्ष के छात्रों ने मीडिया के सामने न आने का अपना स्टैंड लिया है क्योंकि वे फ्रेशर हैं, अभी-अभी 12वीं पूरी की है। 

डीसी अमित तलवार व एसएसपी विवेकशील सोनी के अलावा यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने उन्हें कई बार समझाने की कोशिश की। उनके सामने कुछ प्रस्ताव भी रखे लेकिन वे सुनने को तैयार नहीं थे। रात साढ़े 10 बजे पुलिस अधिकारियों ने कहा कि अब संघर्ष करना है तो वे जारी रख सकते हैं लेकिन अब माइक का इस्तेमाल नहीं होगा। इसके बाद विद्यार्थियों ने उसी छात्रावास के बाहर जाकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। साथ ही मांग रखी कि जिला प्रशासन व यूनिवर्सिटी ने जो बयान दिया है, उसे वापस ले और फॉरेंसिक जांच पूरी होने का इंतजार करे।

इससे पहले डीसी और एएएसपी ने छात्रों से बात की। इसमें एसआईटी और मजिस्ट्रेट जांच का भरोसा दिया। इसके बाद यूनिवर्सिटी के प्रबंधन ने विद्यार्थियों से बातचीत की। इस दौरान जो छात्रा रात को बेहोश हुई थी, उसे विद्यार्थियों के सामने रूबरू करवाया। साथ ही छात्रा ने कहा कि उसकी तबीयत खराब हो गई थी। अब वह ठीक है और किसी ने सुसाइड नहीं किया है। 

इसके बाद विद्यार्थियों ने दलील रखी कि यूनिवर्सिटी में कपड़े पहनने की आजादी होनी चाहिए। इस पर यूनिवर्सिटी ने कहा कि जिन कपड़ों को परिजन पहनने की अनुमति देते हैं, उसकी उन्हें भी अनुमति होगी। विद्यार्थियों ने बताया कि रात को लाठीचार्ज किया गया है। ऐसे में कई विद्यार्थियों के फोन टूटे हैं। एक लड़की घायल हुई है। उन्हें मुआवजा दिया जाना चाहिए। इसके साथ ही हॉस्टल वार्डन को बदलने की भी मांग की। इन सब मांगों पर बातचीत अधर में हैं।

चंडीगढ़ में छात्र संगठनों ने किया प्रदर्शन
चंडीगढ़ में पंजाब यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के छात्र संगठनों ने चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी वीडियो कांड के आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। रविवार को छात्र संगठन एबीवीपी, इनसो, सथ, एएसए ने पीयू और कॉलेज परिसर के साथ सेक्टर-17 में प्रदर्शन कर रोष जताया। वहीं पीयू के एसएफएस के सदस्य सीयू में प्रदर्शन कर रहे छात्रों को समर्थन देने के लिए चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी भी पहुंचे। सभी छात्र संगठनों ने इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा की है। साथ ही मांग की है कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की घटना की प्रशासन निष्पक्ष जांच करवाए तथा जो भी दोषी हो, उस पर सख्त कार्रवाई करे। कहा यह कृत्य मानवता को शर्मसार करने वाला है और शिक्षण संस्थानों पर एक धब्बा है। 

विस्तार

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में अश्लील वीडियो बनाकर वायरल करने के मामले में 24 घंटे भी विद्याथी संघर्ष कर रहे हैं। दोनों आरोपियों के गिरफ्तार किए जाने के बाद भी उन्होंने प्रदर्शन बंद नहीं किया है। वहीं प्रबंधन ने कहा कि दो दिन कॉलेज में पढ़ाई नहीं होगी। मामले को लेकर छात्र कल्याण निदेशक ्रविंदर कंग ने कहा कि पुलिस ने आज छात्रों से बातचीत की थी। वे अब संतुष्ट हैं। प्रथम वर्ष के छात्रों ने मीडिया के सामने न आने का अपना स्टैंड लिया है क्योंकि वे फ्रेशर हैं, अभी-अभी 12वीं पूरी की है। 

डीसी अमित तलवार व एसएसपी विवेकशील सोनी के अलावा यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने उन्हें कई बार समझाने की कोशिश की। उनके सामने कुछ प्रस्ताव भी रखे लेकिन वे सुनने को तैयार नहीं थे। रात साढ़े 10 बजे पुलिस अधिकारियों ने कहा कि अब संघर्ष करना है तो वे जारी रख सकते हैं लेकिन अब माइक का इस्तेमाल नहीं होगा। इसके बाद विद्यार्थियों ने उसी छात्रावास के बाहर जाकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। साथ ही मांग रखी कि जिला प्रशासन व यूनिवर्सिटी ने जो बयान दिया है, उसे वापस ले और फॉरेंसिक जांच पूरी होने का इंतजार करे।

इससे पहले डीसी और एएएसपी ने छात्रों से बात की। इसमें एसआईटी और मजिस्ट्रेट जांच का भरोसा दिया। इसके बाद यूनिवर्सिटी के प्रबंधन ने विद्यार्थियों से बातचीत की। इस दौरान जो छात्रा रात को बेहोश हुई थी, उसे विद्यार्थियों के सामने रूबरू करवाया। साथ ही छात्रा ने कहा कि उसकी तबीयत खराब हो गई थी। अब वह ठीक है और किसी ने सुसाइड नहीं किया है। 

इसके बाद विद्यार्थियों ने दलील रखी कि यूनिवर्सिटी में कपड़े पहनने की आजादी होनी चाहिए। इस पर यूनिवर्सिटी ने कहा कि जिन कपड़ों को परिजन पहनने की अनुमति देते हैं, उसकी उन्हें भी अनुमति होगी। विद्यार्थियों ने बताया कि रात को लाठीचार्ज किया गया है। ऐसे में कई विद्यार्थियों के फोन टूटे हैं। एक लड़की घायल हुई है। उन्हें मुआवजा दिया जाना चाहिए। इसके साथ ही हॉस्टल वार्डन को बदलने की भी मांग की। इन सब मांगों पर बातचीत अधर में हैं।

चंडीगढ़ में छात्र संगठनों ने किया प्रदर्शन

चंडीगढ़ में पंजाब यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के छात्र संगठनों ने चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी वीडियो कांड के आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। रविवार को छात्र संगठन एबीवीपी, इनसो, सथ, एएसए ने पीयू और कॉलेज परिसर के साथ सेक्टर-17 में प्रदर्शन कर रोष जताया। वहीं पीयू के एसएफएस के सदस्य सीयू में प्रदर्शन कर रहे छात्रों को समर्थन देने के लिए चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी भी पहुंचे। सभी छात्र संगठनों ने इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा की है। साथ ही मांग की है कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की घटना की प्रशासन निष्पक्ष जांच करवाए तथा जो भी दोषी हो, उस पर सख्त कार्रवाई करे। कहा यह कृत्य मानवता को शर्मसार करने वाला है और शिक्षण संस्थानों पर एक धब्बा है। 

Leave a Comment