Why Congress Is Seeing Advantage From Bjp’s Attacks On Rahul Gandhi, What After Bharat Jodo Yatra? – Congress: राहुल गांधी पर भाजपा के हमलों से कांग्रेस को क्यों दिख रहा फायदा, भारत जोड़ो यात्रा के बाद क्या?

ख़बर सुनें

राहुल गांधी इन दिनों भारत जोड़ो यात्रा पर हैं। दूसरी ओर कई कांग्रेसी पार्टी छोड़ रहे हैं। भाजपा कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा को लगातार निशाने पर ले रही है। सात सितंबर से शुरू हुई इस यात्रा पर हर दिन किसी ना किसी मुद्दे  पर भाजपा विपक्षी कांग्रेस को घेर रही है। 

कहा जा रहा है कि कांग्रेस के कई नेता यात्रा पर भाजपा की टिप्पणी से खुश हैं। आखिर भाजपा के निशाने पर लेने से कांग्रेस को क्या फायदा हो सकता है? भारत जोड़ो यात्रा को लेकर आगे की रणनीति क्या है? आइए समझते हैं… 
 
भाजपा के हमलों से कांग्रेस को क्या फायदा? 
इसे समझने के लिए हमने कांग्रेस के एक राष्ट्रीय नेता से बात की। उन्होंने कहा, ‘भाजपा जितने हमले कांग्रेस पर करती है उससे हमें कांग्रेस की विचारधारा और तमाम मुद्दों को जनता के सामने रखने का मौका मिलता है। लोग इसकी चर्चा करते हैं और उन्हें सही और गलत के बीच का फर्क मालूम पड़ता है।’

कांग्रेस नेता आगे कहते हैं, ‘भाजपा ने हमारी इस यात्रा को काफी प्रचारित करने का काम किया है। लोगों को कम से कम मालूम तो चल रहा है कि कांग्रेस इस तरह से देश के लोगों को जोड़ने के लिए यात्रा निकाल रही है। भाजपा भले सोच रही है कि वह हमारा नुकसान कर रही है, लेकिन हकीकत ये है कि वह हमारा फायदा ही कर रही है।’
 
भारत जोड़ो यात्रा पर आगे की रणनीति क्या होगी? 
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बताते हैं कि जिस तरह से भारत जोड़ो यात्रा को लोगों का समर्थन मिल रहा है, उससे हमारे कार्यकर्ता और नेता सभी उत्साहित हैं। 150 दिन की यह यात्रा पूरी होने के बाद पश्चिम से पूर्वी भारत तक नई यात्रा निकाली जाएगी। नॉर्थ ईस्ट के कई राज्यों को इसमें शामिल किया जाएगा। अभी जो राज्य छूट रहे हैं, उन्हें भी इसमें शामिल किया जाएगा। अभी जो रणनीति है, उसके अनुसार ये यात्रा दो तरफ से निकलेगी। एक तरफ की कमान खुद राहुल गांधी संभालेंगे तो दूसरे तरफ से प्रियंका गांधी यात्रा का नेतृत्व करेंगी। 
 
यात्रा को लेकर कांग्रेस में क्या मंथन?
ये सवाल हमने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता से पूछा उन्होंने कहा, ‘जब भी कुछ बड़ा होता है, उसको लेकर परिवार में अलग-अलग विचार भी होते हैं। इसी तरह इस यात्रा को लेकर भी पार्टी में सबके अलग-अलग विचार हैं। बड़ी संख्या में नेता और कार्यकर्ता इस यात्रा के साथ हैं। कुछ नेताओं का कहना था कि अभी गुजरात और हिमाचल प्रदेश के चुनाव पर फोकस करना चाहिए। वह भी गलत नहीं हैं। उनकी सोच भी पार्टी के हित में ही है। ऐसे नेताओं को हमने बता दिया है कि गुजरात और हिमाचल प्रदेश के चुनाव को लेकर भी हमारी पूरी तैयारी है। तय कार्यक्रम के अनुसार ही ये सब हो रहा है।’
 
मौजूदा यात्रा कहां से कहां तक जाएगी?
सात सितंबर को तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हो रही यात्रा 150 दिन तक चलेगी। इस दौरान यह 12 राज्यों से गुजरेगी। 3,570 किलोमीटर लंबी इस यात्रा का समापन जम्मू-कश्मीर में होगा। यात्रा 12 राज्यों के 20 शहरों से होकर गुजरेगी।

मिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई यात्रा, केरल के तिरुवनंतपुरम, कोच्ची और नीलाम्बुर जाएगी। इसके बाद कर्नाटक के मैसूर, बेल्लारी, रायचुर, तेलंगाना के विकाराबाद, महाराष्ट्र के नांदेड़, जलगांव जामोद, मध्य प्रदेश के इंदौर पहुंचेगी। यहां से यात्रा राजस्थान के कोटा, दौसा, अलवर, उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर, दिल्ली, हरियाणा के अंबाला, पंजाब के पठानकोट होते हुए जम्मू होते हुए श्रीनगर पहुंचेगी। जहां यात्रा का समापन होगा।
 
इस यात्रा का उद्देश्य क्या है?
पार्टी नेताओं और यात्रा की वेबसाइट के मुताबिक इस राष्ट्रव्यापी यात्रा का मुख्य उद्देश्य देश को एकजुट करना है। यात्रा की वेबसाइट कहती है कि इस यात्रा का उद्देश्य देश को एकजुट करना, लोगों को एक साथ लाना और देश को मजबूत करना है।   

 
चुनावी राज्यों से दूर रहेगी कांग्रेस की यह यात्रा
ये यात्रा 150 दिन चलेगी। इस दौरान गुजरात और हिमाचल प्रदेश में चुनाव होने हैं। दिलचस्प ये है कि 12 राज्यों से गुजरने वाली यह यात्रा इन दोनों चुनावी राज्यों से होकर नहीं जाएगी। बिहार, बंगाल जैसे राज्यों से होकर भी यात्रा नहीं गुजरेगी। यहां तक कि उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य में भी यात्रा का पड़ाव बहुत छोटा है।

विस्तार

राहुल गांधी इन दिनों भारत जोड़ो यात्रा पर हैं। दूसरी ओर कई कांग्रेसी पार्टी छोड़ रहे हैं। भाजपा कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा को लगातार निशाने पर ले रही है। सात सितंबर से शुरू हुई इस यात्रा पर हर दिन किसी ना किसी मुद्दे  पर भाजपा विपक्षी कांग्रेस को घेर रही है। 

कहा जा रहा है कि कांग्रेस के कई नेता यात्रा पर भाजपा की टिप्पणी से खुश हैं। आखिर भाजपा के निशाने पर लेने से कांग्रेस को क्या फायदा हो सकता है? भारत जोड़ो यात्रा को लेकर आगे की रणनीति क्या है? आइए समझते हैं… 

 

Leave a Comment